गुरुवार, 2 जुलाई 2009

बच्चों का पेड़









आँगन
में जो पेड़ नीम का,
मीठा उसे बना दो।
भगवन सुन लो बच्चों की तुम,
फलों से उसे सजा दो।

एक डाल पर लगें संतरे,
एक डाल पर लीची-आम।
मीठे केले लगा नीम पर,
करो उसे बच्चों के नाम।
*****

4 टिप्‍पणियां:

महामंत्री - तस्लीम ने कहा…

सुंदर एवं प्रेरक।

-Zakir Ali ‘Rajnish’
{ Secretary-TSALIIM & SBAI }

सहज साहित्य ने कहा…

बच्चों की प्रार्थना बहुत सहजता लिए हुए है ।
हिमांशु

Udan Tashtari ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
रानी पात्रिक ने कहा…

वैसे तो बच्चों के हर शब्द में अबोधिता है इसलिए रचना सुन्दर लगी पर नीम के भी अपने गुण हैं। और भावों के अनुसार यदि नीम कटुता का प्रतीक है तब तो सटीक कहा आपने।