मंगलवार, 14 जुलाई 2009

हाथी जी की कार


















हाथी जी ने फोन मिलाया,

कार बनाने वालों को।

जल्दी से एक कार बना दो,

बिठा सकूँ घरवालों को।


थोड़ा-सा पैट्रोल वह खाए,

हो खूब तेज रफ्तार।

सुंदर हो, मजबूत भी हो,

पर सस्ती-सी हो कार।

***

2 टिप्‍पणियां:

HEY PRABHU YEH TERA PATH ने कहा…

आपके लिए नैनो ले आए।
सुन्दर कविता पाठ।
आभार/ शुभकामनाओ सहित
हे प्रभु यह तेरापन्थ
मुम्बई टाईगत

सहज साहित्य ने कहा…

यह बहुत प्यारा शिशुगीत है। हिमांशु