सोमवार, 20 जुलाई 2009

तीन भाई






तीनों
बड़े शरारती,
तीनों सगे हैं भाई।
एक साथ पैदा हुए,
रहती सदा लड़ाई।

चीख-चीख कर करते रहते,
सदा ये जोर अजमाई।
कौन बड़ा और कौन है छोटा,
पहेली सुलझ न पाई।
****

3 टिप्‍पणियां:

BIKRAMJIT ने कहा…

Rachna manojanjak lagi, badhai.

Kamlesh ने कहा…

आपका शिशु गीत ‘तीन भाई’ बहुत पसंद आया।

SELECTION & COLLECTION SELECTION & COLLECTION ने कहा…

वाह! जी वाह! शुबान-अल्ला



आभार/शुभकामनाऐ
हे प्रभु यह तेरापन्थ
मुम्बई टाईगर